सीतामढ़ी: कोविड वैक्सीनेशन की कैसी है तैयारी ?

सीतामढ़ी जिला में कोविड वैक्सीनेशन की कैसी तैयारी है और वैक्सीन स्टोरेज के लिए किस तरह के उपाय किए गए हैं, ये सब हम इस रिपोर्ट में जानेंगे।

 

सीतामढ़ी : कोविड-19 के पूरे काल में मीडिया ने कोविड के जागरूकता, भ्रांति पर जो जानकारी जिलावासियों को दी वह अभूतपूर्व है। हमने कोविड के लिए एक स्वास्थ्य संरचना (हेल्थ स्ट्रक्चर) तैयार करने में बहुत मेहनत की है। अब बारी है कोविड टीकाकरण की जिसे जनवरी में दिया जा सकता है। ये बातें सिविल सर्जन डॉ राकेश चंद्र सहाय वर्मा ने जिला स्वास्थ्य समिति के सभागार में सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च द्वारा आयोजित मीडिया वर्कशॉप में बुधवार को कहीं। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन को लेकर जिला पूरी तरह तैयार है। वहीं इसके भंडारण और वितरण के लिए भी विस्तृत माइक्रोप्लान तैयार कर लिया गया है। जिसमें टीका देने के लिए एएनएम व स्वास्थ्यकर्मियों का चयन किया जा रहा है।

 

तीन चरणों में होगा टीकाकरण

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ एके झा ने कहा कि कोविड का वैक्सीनेशन तीन चरणों में होगा। जिसके पहले चरण में सरकारी तथा निजी 1,18,000 कर्मियों को टीका पड़ेगा वहीं दूसरे चरण में केंद्र तथा राज्य के कर्मचारियों को तथा तीसरे चरण में 50 तथा उससे कम उम्र के लोगों को दिया जाएगा। सरकार का उद्येश्य है कि जिन्होंने कोविड के दौरान अपनी सक्रिय भूमिका निभायी हो उन्हें पहले टीका मिले।

 

20 प्रतिशत कोविड वैक्सीन के लिए आरक्षित

 

डॉ एके झा ने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन के लिए एक उचित तापक्रम की जरूरत होती है। जिसके लिए जिला कोल्ड चेन के सिस्टम को दुरुस्त किया जा रहा है। जिले के टीकाकरण के कुल भंडारण का 20 प्रतिशत कोविड के लिए आरक्षित (रिजर्व) रखा गया है। वहीं आवश्यकता पड़ने पर पशुपालन विभाग के 10 हजार लीटर के दो भंडारण मशीन की मदद ली जाएगी। टीके का भंडारण जिला वैक्सीनेशन सेंटर तथा पीएचसी स्तर पर किया जाएगा। टीकाकरण के लिए एएनएम, जीएनएम तथा फार्मासिस्टों का चयन किया जाएगा। टीकाकरण से पहले स्वास्थ्यकर्मियों को मोबाइल पर टीकाकरण का स्थल , दिन तथा समय की जानकारी मिल जाएगी।

 

कोविड टीकाकरण में पड़ेगें दो डोज़

डीआइओ डॉ एके झा ने कहा कि कोविड का टीका दो डोज का होगा। जिसमें एक टीका लगने के 28 दिन बाद दूसरा डोज दिया जाएगा। टीके के लिए पहले जमा किए गये पहचान-पत्र को ही टीकाकरण सत्र पर लाना होगा।

टीकाकरण केंद्र पर होंगेे तीन कमरे

कोविड के टीकाकरण के लिए पीएचसी या टीकाकरण केंद्र तीन कमरों वाला होगा। पहले कमरे में हाथ धोने और सैनिटाइजर की व्यवस्था होगी। वहीं दूसरे कमरे में डेटाबेस से लाभार्थी की पहचान की जाएगी। वहीं तीसरे कमरे में प्रशिक्षित एएनएम दवारा टीकाकरण किया जाएगा। लाभार्थी को किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए आधा घंटा उसकी स्थिति पर नजर रखी जाएगी। किसी विपरीत प्रभाव से निपटने के लिए वहां एईएफआइ किट की भी व्यवस्था होगी। जिससे स्थिति पर नियंत्रण पाया जाएगा।
मौके पर एसीएमओ डॉ सुरेंद्र कुमार चौधरी , जिला वीबीडीसीओ डॉ रविन्द्र कुमार यादव, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ एके झा, जिला एनसीडीओ डॉ सुनील कुमार सिन्हा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक आसित रंजन, जिला एम एंड एनई ऑफिसर संतोष कुमार, केयर डीटीएल मानस कुमार, डीसीएम समरंद्र कुमार वर्मा, पीरामल से जिला समन्वयक रवि रंजन, सीफार के डीसी श्रीकांत प्रसाद सिंह सहित अन्य स्वास्थ्यकर्मी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *